-->

Chupke Chupke Raat Din Lyrics Gulam Ali

Chupke Chupke Raat Din Lyrics Gulam Ali
Chupke Chupke Raat Din Lyrics Gulam Ali चुपके चुपके रात दिन lyrics Ghazal Sung Gulam Ali. Chupke Chupke Raat Din Lyrics In Hindi writer is Hasrat Mohani

Chupke Chupke Raat Din Lyrics In Hindi

चुपके चुपके रात दिन 
आँसू बहाना याद है

चुपके चुपके रात दिन 
आँसू बहाना याद है

हम को अब तक आशिकी का 
वो ज़माना याद है

चुपके चुपके रात दिन 
आँसू बहाना याद है

तुझ से मिलते ही वो कुछ 
बेबाक हो जाना मेरा

तुझ से मिलते ही वो कुछ 
बेबाक हो जाना मेरा

और तेरा दांतों में वो 
उंगली दबाना याद है

हम को अब तक आशिकी का 
वो ज़माना याद है
चुपके चुपके रात दिन..

चोरी-चोरी हम से तुम आ कर 
मिले थे जिस जगह

चोरी-चोरी हम से तुम आ कर 
मिले थे जिस जगह

मुद्दतें गुजरीं पर अब तक वो 
ठिकाना याद है

हम को अब तक आशिकी का 
वो ज़माना याद है
चुपके चुपके रात दिन..

खैंच लेना वो मेरा परदे का 
कोना दफ्फातन

खैंच लेना वो मेरा परदे का 
कोना दफ्फातन

और दुपट्टे से तेरा वो 
मुंह छुपाना याद है

हम को अब तक आशिकी का वो 
ज़माना याद है
चुपके चुपके रात दिन..

तुझ को जब तनहा कभी पाना तो 
अज राह-ऐ-लिहाज़

तुझ को जब तनहा कभी पाना तो 
अज राह-ऐ-लिहाज़

हाल-ऐ-दिल बातों ही बातों में 
जताना याद है

हम को अब तक आशिकी का वो 
ज़माना याद है
चुपके चुपके रात दिन..

आ गया गर वस्ल की शब् भी 
कहीं ज़िक्र-ए-फिराक

आ गया गर वस्ल की शब् भी 
कहीं ज़िक्र-ए-फिराक

वो तेरा रो-रो के भी मुझको 
रुलाना याद है

हम को अब तक आशिकी का वो 
ज़माना याद है
चुपके चुपके रात दिन..

दोपहर की धुप में मेरे बुलाने के लिए
दोपहर की धुप में मेरे बुलाने के लिए

वो तेरा कोठे पे नंगे पांव आना याद है
हम को अब तक आशिकी का वो 

ज़माना याद है
चुपके चुपके रात दिन..

गैर की नज़रों से बचकर 
सब की मर्ज़ी के ख़िलाफ़

गैर की नज़रों से बचकर सब की 
मर्ज़ी के ख़िलाफ़

वो तेरा चोरी छिपे रातों को आना याद है
हम को अब तक आशिकी का वो 
ज़माना याद है
चुपके चुपके रात दिन..

बा हजारां इस्तिराब-ओ-सद-हजारां इश्तियाक
बा हजारां इस्तिराब-ओ-सद-हजारां इश्तियाक

तुझसे वो पहले पहल दिल का 
लगाना याद है
हम को अब तक आशिकी का वो 
ज़माना याद है
चुपके चुपके रात दिन..

बेरुखी के साथ सुनना दर्द-ऐ-दिल की दास्तां
बेरुखी के साथ सुनना दर्द-ऐ-दिल की दास्तां

वो कलाई में तेरा कंगन 
घुमाना याद है
हम को अब तक आशिकी का वो 
ज़माना याद है
चुपके चुपके रात दिन..

वक्त-ए-रुखसत अलविदा का 
लफ्ज़ कहने के लिए
वक्त-ए-रुखसत अलविदा का 
लफ्ज़ कहने के लिए

वो तेरे सूखे लबों का थर-थराना याद है
हम को अब तक आशिकी का वो 
ज़माना याद है
चुपके चुपके रात दिन..

Chupke Chupke Raat Din Lyrics

Oh oh oh, aah aah, 
oh oh oh, oh ho ho

Chupke chupke raat din 
aansu bahaana yaad hai

Chupke chupke raat din 
aansu bahaana yaad hai

Humko ab tak aashiqui ka 
voh zamaana yaad hai

Chupke chupke raat din 
aansu bahaana yaad hai

Khench le na voh mera 
parde ka kona daffatan

Khench le na voh mera 
parde ka kona daffatan

Aur dupatte se tera voh 
munh chhupaana yaad hai

Humko ab tak aashiqui ka 
voh zamaana yaad hai

Chupke chupke raat din 
aansu bahaana yaad hai

Do paher ki dhoop mein 
mere bulaane ke liye

Do paher ki dhoop mein 
mere bulaane ke liye

Voh tera kothe pe nange 
paaon aana yaad hai

Humko ab tak aashiqui ka 
voh zamaana yaad hai

Chupke chupke raat din 
aansu bahaana yaad hai
Song Credit
  • Song: Chupke Chupke Raat Din
  • Singer: Ghulam Ali
  • Lyricist: Hasrat Mohani
  • Music Director: Ghulam Ali

Also Read